विश्वविद्यालयों व उच्च शिक्षण संस्थानों में आर्थिक रूप से कमजोर सामान्य वर्ग (ईडब्ल्यूएस कोटा) के तहत ईडब्ल्यूएस कोटे की कुल अतिरिकत सीटों पर शिक्षकों के पदों में बढ़ोतरी होगी। खास बात यह है कि दुनिया के सर्वोच्च शिक्षण संस्थानों को टक्कर देने व गुणवत्ता युक्त शिक्षा मुहैया करवाने के मकसद से 20 छात्रों पर एक शिक्षक तैनात किया जाएगा।

वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, आर्थिक रूप से कमजोर सामान्य वर्ग (ईडब्ल्यूएस) के छात्रों के लिए जनवरी 2019 से दस फीसदी सीट आरक्षित का फैसला लागू हो गया था। हालांकि विश्वविद्यालयों व उच्च शिक्षण संस्थानों में जुलाई 2019 सत्र से आर्थिक रूप से कमजोर सामान्य वर्ग के छात्रों को दाखिले में लाभ मिलेगा।

ईडब्ल्यूएस की अतिरिक्त सीट बढने के तहत शिक्षकों के पदों में बढ़ोतरी को फैसला नही हो पाया था। इसी के चलते सरकार कैबिनेट में ईडब्ल्यूएस सीटों के तहत शिक्षकों के पदों को बढ़ाने जा रही है।